Virat Kohli Biography in Hindi: विराट कोहली की जीवनी

Virat Kohli biography in hindi

Virat Kohli को भारतीय क्रिकेट के वो स्टार माना जाता है जिनका नाम अपनी खिलाड़ी कौशल और प्रेरणादायक जीवन जीने के लिए बन गया है। उन्होंने अपनी क्रिकेट करियर के दौरान अनेक रिकॉर्ड तोड़े हैं और विश्व क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शामिल हो गए हैं। इस लेख में हम Virat Kohli Biography in Hindi के मुख्य पहलुओं को देखेंगे और उनके व्यक्तित्व को समझेंगे।

Virat Kohli Biography in Hindi Overview

पूरा नाम (Name)विराट कोहली
अन्य नाम (Nick Name)चीकू, रन मशीन
नाम का मतलब (Meaning of Name)बहुत बड़ा
जन्म (Date of Birth)5 नवम्बर 1988
जन्मस्थान (Birthplace)दिल्ली, इंडिया
आयु (Age)34 Years
पिता (Father Name)स्वर्गीय प्रेमजी कोहली
माता(Mother Name)सरोज कोहली
पत्नी (Wife Name)अनुष्का शर्मा (बॉलीवुड अभिनेत्री)
विवाह तिथि (Marriage Date)11 दिसंबर 2017
बच्चे (Children)बेटी (वामिका कोहली)
बहन (Sister)भावना कोहली (ज्येष्ठ)
भाई (Brother)विकास कोहली (ज्येष्ठ)
अलंकृत नाम (Decorate Name)विरुष्का
राशि (Zodiac Sign)वृश्चिक
पता (Address)डीएलएफ सिटी फेस-1, ब्लाक-सी गुडगाँव, हरियाणा
स्कूल (School)
  • विशाल भारती पब्लिक स्कूल, दिल्ली
  • सेविअर कॉन्वेंट सीनीयर सेकेंडरी स्कूल,पश्चिम विहार, दिल्ली
कॉलेज(College)
शिक्षा (Educational Qualification)बारहवीं
भाषा(Languages)हिंदी , इंग्लिश
नागरिकता(Nationality)भारतीय
धर्म(Religion)हिन्दू
जाति(Caste)खत्री, पंजाबी
खास दोस्त (Best Friend’s)रोहित शर्मा, क्रिस गेल, एबी डे विलिएर्स
मुख्य टीम (Major Team)इंडिया, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर
दिलचस्पी (Hobbies)वर्कआउट, घूमना, डांसिंग
बुरी आदत (Bed Habits)ड्रिंकिंग
कोच (Coach/Mentor)राज कुमार शर्मा
बेटिंग स्टाइल (Batting Style)राईट-हैण्ड बेट्समेन
अंतर्राष्ट्रीय खेल की शुरुआत
  • वनडे (एकदिवसीय): 18 अगस्त 2008, श्रीलंका के खिलाफ दाम्बुला में
  • टी-20– 12 जून 2010, जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में
  • टेस्ट– 20 जून 2011, वेस्टइंडीज के खिलाफ किंग्स्टन में
कुल सम्पति/ नेटवर्थ (Net Worth)$127 Million (Approx. 1060 Crores)
सैलरी (Salary)Rs. 48 Crores

Early Life of Virat Kohli

5 नवंबर 1988 को नई दिल्ली में एक पंजाबी परिवार ने विराट कोहली का स्वागत किया। प्रेम कोहली उनके पिता हैं और वे क्रिमिनल लॉ की प्रैक्टिस करते हैं; सरोज कोहली उनकी मां हैं और वे घर पर ही रहती हैं। भावना कोहली विराट कोहली की बहन हैं और विकास कोहली उनके भाई हैं। जब विराट कोहली तीन साल के थे, तब उन्होंने बल्ला उठाया। इसके बाद, उनकी क्रिकेट में और भी दिलचस्पी हो गई और उन्होंने इस पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर दिया।

जब विराट कोहली के माता-पिता ने देखा कि उनके बच्चे की क्रिकेट में रुचि है, तो उन्होंने उसे खेल के लिए तैयार होने के लिए कहा। विराट कोहली दिल्ली के प्रसिद्ध क्रिकेटर राजकुमार शर्मा से क्रिकेट की कोचिंग लेते थे।

विराट कोहली की शिक्षा 

दिल्ली में ‘विशाल भारतीय पब्लिक स्कूल’ विराट कोहली की शुरुआती शिक्षा प्रदाता था। वह अपना पूरा ध्यान क्रिकेट पर लगाते थे, इसलिए उनका पढ़ाई पर ज़्यादा ध्यान नहीं था। नतीजतन, उन्होंने सिर्फ़ 12वीं कक्षा तक ही पढ़ाई की। विराट कोहली को क्रिकेट खेलने और इसकी बारीकियों को पूरी तरह से समझने के लिए, उनके पिता ने उन्हें नौ साल की उम्र में क्रिकेट स्पोर्ट्स क्लब में दाखिला दिलाया। विराट कोहली ने स्कूल की बारहवीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपना पूरा ध्यान क्रिकेट पर लगा दिया।

Virat Kohli’s Cricket Career

सबसे पहले, विराट के करियर की बात करें तो, 1998 में जब वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी की स्थापना हुई थी, तब वे इसके सदस्य थे। उनके कोच और मेंटर राजकुमार शर्मा क्रिकेट मैचों के लिए उनकी तैयारी की देखरेख करते थे।

इसके बाद, 2002 में, उन्होंने दिल्ली अंडर-15 टीम के साथ अपनी शुरुआत की, और अगली ट्रॉफी और पॉली उमरीगर ट्रॉफी जीतने वाली टीम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

इसके बाद उन्हें 2003-04 में विजय मर्चेंट ट्रॉफी के लिए दिल्ली अंडर-17 टीम के लिए चुना गया, जहाँ उन्होंने रन बनाने में शीर्ष स्थान हासिल किया।

इसके बाद विराट ने 18 साल की उम्र में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया। वह तमिलनाडु क्रिकेट टीम (दिल्ली बनाम तमिलनाडु) के खिलाफ मैच में केवल दस रन ही बना पाए थे।

जुलाई 2006 में वह अंडर-19 टीम में शामिल हुए और टीम इंडिया के लिए क्रिकेट खेलने के लिए इंग्लैंड गए। इसके अलावा, भारत ने टेस्ट और वनडे सीरीज में जीत हासिल की।

18 दिसंबर, 2006 को ब्रेन स्ट्रोक के बाद लगभग एक महीने तक बिस्तर पर आराम करने के बाद उनके पिता का निधन हो गया। इस प्रकार उन्हें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा। विराट कोहली के अनुसार, उनके पिता उनके सबसे बड़े सहारे थे, और उनके जाने से वह पूरी तरह टूट गए। क्रिकेट टीम के नए सदस्य के रूप में उन्हें दो मैच हारने पड़े।

लेकिन हार के सामने टूटने के बजाय, विराट ने इसका डटकर सामना किया और सुधार जारी रखने के लिए बहुत प्रयास किए। विराट कोहली ने कड़ी मेहनत के दम पर 116 रन का मैच जीतने वाला स्कोर बनाया। यहीं से विराट कोहली की सफलता की शुरुआत होती है।

फिर, 2007 इंटर-स्टेट टी20 चैंपियनशिप में 179 रन बनाकर, वह शीर्ष रन स्कोरर बन गए।

2008 को विराट कोहली के करियर का निर्णायक वर्ष माना जाता है क्योंकि इस साल वह भारतीय अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप विजेता टीम में कप्तान के रूप में शामिल हुए और आरसीबी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आईपीएल) टीम द्वारा $300,000 में खरीदे गए। इसके अलावा, उन्होंने उसी साल विदेश में अपनी शुरुआत की।

अपने क्रिकेट करियर में विराट कोहली ने इसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। गौतम गंभीर की जगह श्रीलंका के खिलाफ त्रिकोणीय सीरीज के मैच में खेलने के बाद विराट कोहली 2009 आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में चोट के कारण बाहर हुए युवराज सिंह की जगह लेने में सफल रहे।

इसके बाद, 2010 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान सचिन तेंदुलकर को आराम दिए जाने के बाद कोहली को एक और मौका दिया गया।

2011 अगला साल था, और अपने विश्व कप के पहले मैच में उन्होंने शतक (100 रन) बनाया। अपनी दृढ़ता के कारण, विराट कोहली ने 2011 के टेस्ट मैच में जगह बनाई। उन्होंने एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच की शुरुआत से ही छठे नंबर पर बल्लेबाजी की।

किंग्स्टन में विराट ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला, लेकिन वह कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। पांच पारियों में वह सिर्फ 76 रन ही बना पाए।

वह 2015 विश्व कप मैच में पाकिस्तान के खिलाफ शतक बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने।

2017 में श्रीलंका के खिलाफ़ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज़ में वे छह बार 200 रन (डबल सेंचुरी) बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने। 2818 रन के साथ वे टीम इंडिया की ओर से सबसे ज़्यादा सालाना रन बनाने वाले खिलाड़ी भी बने।

विराट कोहली अगस्त 2018 में ICC टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल करने के साथ ही एक ही साल में तीन शतक लगाने वाले भारतीय टीम के पहले कप्तान बन गए।

विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया 2019 विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हार गई थी।

2021 में ICC विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड से हारकर भारतीय टीम प्रतियोगिता से बाहर हो गई थी।

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया 2019 विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हार गई थी।

2021 में आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड से हारकर भारतीय टीम प्रतियोगिता से बाहर हो गई थी।

विराट कोहली ने एक बार फिर टीम इंडिया को 2022 में टी20 विश्व कप के मैच में जीत दिलाई है।

Virat Kohli Career Stats

Batting & Fielding

FormatMatInnsNORunsHSAveBFSR100s50s4s6sCtSt
Tests113191118848254*49.151592455.562930991261110
ODIs292280441384818358.671479793.58507212941511510
T20Is115107314008122*52.732905137.96137356117500
FC1452391811097254*50.211982755.9636381304411420
List A326313471529018357.481633393.61548014581751690
T20s3743576811965122*41.408972133.3589110693711700

Bowling

FormatMatInnsBallsRunsWktsBBIBBMAveEconSR4w5w10w
Tests113111758402.88000
ODIs2925066268051/131/13136.006.16132.4000
T20Is1151315220441/131/1351.008.0538.0000
FC1452564333831/192/42112.663.15214.3000
List A3265772674151/131/13148.206.12145.2000
T20s3744546066782/252/2583.378.7057.5000

Conclusion

Virat Kohli Biography in Hindi, भारतीय क्रिकेट के शानदार प्रतिनिधि, उन्होंने अपने खिलाड़ी जीवन में अनेक रिकॉर्ड तोड़े और अपनी अद्वितीय खेल की प्रेरणा दी। उनका संघर्ष, प्रेरणादायक परिवर्तन और सफलता का प्रेरक संदेश देश भर के क्रिकेट प्रेमियों तक पहुंचा।

Read more

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *